Anxiety Meaning In Hindi – Anxiety Disorder क्या है

Anxiety शब्द आपने जरूर कभी ना कभी सुना होगा और आप इसका मतलब जानना चाहते होंगे और इससे पहले आप Anxiety meaning in hindi को भी जानना चाहते होंगे।

Anxiety शब्द का प्रचलन लोगों के बीच तेजी से बढ़ रहा है। कई बार हमें अचानक से घबराहट होती है तो और कई बार ऐसा होता है हमें डर लगने लगती है। यदि हम को काम कर रहे होते हैं और अचानक से विचार आता है कि मेरे इस काम के बारे में लोग क्या कहेंगे यह सभी घटनाए हर किसी के साथ कभी ना कभी जरूर होती है।

Advertisement

अगर आपको घबराने और चिंता की समस्या रोजाना हर दिन होती है तो यह आपके लिए सही नहीं है। कई लोग ऐसे हैं जिन्हें अंजाम देने के दौरान या फिर बड़े किसी अधिकारी से मिलने के लिए दौरान थोड़ा सा डर महसूस होता है या फिर किसी परीक्षा की रिजल्ट आने का डर रहता है या फिर किसी ऊंचाई पर खड़े होने पर भी डर लगता है लेकिन यह डर एक प्रकार से नार्मल होता है।अगर आप को रोजाना घबराहट महसूस होती है और ऐसा लगता है तो आपको anxiety समस्या हो सकती है।

आज हम इस आर्टिकल पर आपको Anxiety meaning in hindi, Anxiety kya hai,anxiety से छुटकारा कैसे पाएं आदि आदि टॉपिक के बारे में बताने वाले हैं। इसलिए आपको Anxiety meaning in hindi को जाने के लिए इस आर्टिकल को पूरा करना होगा।

5 A Step by Step Guide to Conclusion Meaning In Hindi – Conclusion का हिंदी मतबल

Class 6 7 8 9 10 formal letter in hindi औपचारिक पत्र लेखन फॉर्मेट हिंदी

Castor Oil in Hindi – कैस्टर ऑयल या अरंडी तेल के फायदे 

Anxiety meaning in hindi kya hai

Advertisement

Anxiety को हिंदी भाषा में चिंता कहा जाता है। मनुष्य को चिंता दो रूप से हो सकती है इस नॉर्मल चिंता और एक रोजाना होने वाली चिंता। Anxiety की समस्या में व्यक्ति को रोजाना चिंता होती है जो उसके स्वास्थ्य के लिए सही नहीं है।

Anxiety MeaningHindi Meaning
Anxietyचिंता
Anxietyघबराहट

नॉर्मल चिंता में व्यक्ति को किसी झूले में बैठने के दौरान चिंता होती है या फिर स्कूल रिजल्ट या सरकारी नौकरी रिजल्ट आने पर चिंता होती है। कई लोग ऐसे होते हैं जिन्होंने जॉब इंटरव्यू के लिए जाना होता है और उन्हें इंटरव्यू से पहले बहुत सारी चिंता होती है। लेकिन यह चिंता हमारे दैनिक जीवन में रोजाना नहीं आती है अगर कुछ टाइम के लिए आती है तो कुछ ही क्षण में खत्म भी हो जाती है।

एंजाइटी को एक प्रकार से घबराहट का भी मान सकते हैं। आज के समय में बड़ों से लेकर बच्चे तक एंजायटी के शिकार हो रहे हैं। एंजाइटी वाले व्यक्ति की पहचान करना बहुत ही आसान है जो व्यक्ति एंजायटी की समस्या से पीड़ित होगा वह हमेशा अकेले और थोड़ा लोगों से कम बोलता होगा। एंजायटी में व्यक्ति नकारात्मक विचार को ज्यादा महत्व देने लगता है।

Anxiety एक नॉर्मल चिंता नहीं है एंजाइटी एक ऐसी चिंता है जो हमें रोजाना सताते रहती है हमें हर एक बात पर घबराहट होने लगती है और छोटी सी चीज से भय उत्पन्न हो जाता है। anxiety एक प्रकार से हमारे दिमाग की प्रॉब्लम है। व्यक्ति के दिमाग में पहले से कई सारी प्रॉब्लम रहती है जिसके कारण वह तनाव में रहता है और उसे हमेशा घबराहट सी महसूस होती है।

Anxiety मनुष्य के दैनिक जीवन में हस्तक्षेप जरूर करती है। anxiety meaning in hindi एंजाइटी के कारण मनुष्य अपना दैनिक कार्य अच्छे से नहीं कर पाता है उसे किसी ना किसी बात से घबराहट जरूर हो जाती है।

एंजायटी क्यों होती है?

एंजाइटी का प्रमुख कारण किसी भी वस्तु या किसी बात को लेकर ज्यादा चिंतित होना या फिर किसी एक बात पर अधिक सूचना और उसके बाद घबराना और छोटी-छोटी बात पर ज्यादा सोचना के कारण ही एंजाइटी होती है।

एंजायटी के प्रकार

Anxiety को स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने तीन प्रकार से बांटा है लोगों को तीन प्रकार से anxiety meaning in hindi की प्रॉब्लम आ सकती है और हमेशा Anxiety मनुष्य के मानसिक स्तर से उत्पन्न होती है।

1 नॉर्मल एंड एंजाइटी 

बहुत सारे व्यक्ति ऐसे होते हैं जिन्हें नॉर्मल रूप से anxiety होती है। इसमें बिना कारण के भी मनुष्य को किसी बात की चिंता रहती और मनुष्य का दिमाग एकदम तनावपूर्ण रहता है।

2 विशेष फोबिया एंजायटी

जब हम ताल के किनारे या फिर ऊंचाई वाले स्थान तथा किसी वस्तु को देखकर चिंता में आ जाते हैं या फिर हमारे मन में भय उत्पन्न हो जाता है और इस स्थिति में मनुष्य की हालत सामान्य से थोड़ा तनावपूर्ण हो सकती है।

3 सामाजिक एंजायटी social anxiety meaning in hindi

कई बार हमें सामाजिक मुद्दों के कारण भी घबराहट और हम तनाव में आ जाते हैं। कई बार हम किसी सामाजिक मुद्दे पर विचार कर लेते हैं जिसके कारण हमें बहुत सारी प्रॉब्लम साथी हैं और हमारा एकदम तनावपूर्ण से ग्रस्त हो जाता है। कई बार हम समाज को देखते हुए समाज क्या कहेगा इस बात से भी घबराहट और तनावपूर्ण का शिकार हो जाते हैं।

4 पैनिक एंजायटी

यह एंजाइटी हमें अपनी परिस्थिति के अनुसार होती है। कई बार व्यक्ति मुसीबत में आ जाता है जिसके कारण उसे पसीना सिर दर्द, धड़कनों का तेज होना, पैरों का कांपना आदि जैसी घटनाएं उसके साथ होती हैं। इस प्रकार की एंजायटी की समस्या व्यक्ति को किसी भयंकर वस्तु को देखकर भी होती है।

सभी व्यक्तियों को इन चार एंजायटी में अलग-अलग प्रकार की anxiety की समस्या आती होगी। एक ही व्यक्ति को सभी प्रकार की anxiety की समस्या नहीं आ सकती।

Anxiety के लक्षण कैसे होते हैं?

anxiety का अनुभव हर मनुष्य अलग-अलग रूप से कर सकता है। सारे मनुष्य को anxiety के लक्षण एक प्रकार से नहीं दिखते हैं। उदाहरण के लिए चार व्यक्तियों को anxiety की समस्या आ गई है तो इन चारों व्यक्तियों के लक्षण आपको अलग अलग दिखाई देंगे। कोई व्यक्ति बहुत अजीब सा महसूस करेगा तो कोई व्यक्ति का शरीर अजीब कांपने लगेगा और कई व्यक्तियों व्यक्तियों को सिर दर्द और उन की धड़कन ही तेजी से चलने लगती है। anxiety Anxiety meaning in hindi की स्थिति में व्यक्ति का शरीर सम्मानीय शरीर के मुकाबले दूसरी हरकतें करता है। सामान्य स्थिति महत्व व्यक्ति नॉर्मल बोलता है और एकदम ठीक-ठाक बैठा रहता है।

 लेकिन जिन लोगों को anxiety की प्रॉब्लम होती है वे लोग तनावपूर्ण स्थिति में रहते हैं या फिर उनके मन में किसी बात को लेकर घबराहट उत्पन्न हो जाती है। किसी किसी को तो चक्कर आने लगते हैं और किसी को हल्का सा बुखार भी आता है। किसी को अचानक से ठंडा लगने लगता है तो किसी को अचानक से गरम लगने लग जाता है। बहुत सारे लोग ऐसे होते हैं जिन्हें सोने में बहुत सारी कठिनाइयां होती है और वे अपने सोने का स्थान बदलते रहते हैं।

Anxiety के कारण क्या है?

स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने एंजाइटी के अलग-अलग कारण बताए हैं। कुछ स्वास्थ्य विशेषज्ञों का मानना है कि anxiety का कारण मानव का दिमाग है बहुत सारे लोग ऐसे होते हैं जो एक बात को ज्यादा ही विचार करते हैं और वही बात उन्हें बार-बार आकर परेशान करती है जिसके कारण उनका दिमाग ज्यादा ही सोचने लगता है और वे लोग उनका शिकार हो जाते हैं। मानसिक तनाव भी anxiety का कारण है।

कुछ विशेषज्ञों का मानना है कि पर्यावरण कारक के कारण भी anxiety की समस्या आ सकती है।

Anxiety की समस्या से बचने के उपाय

अगर आप भी भविष्य में Anxiety meaning in hindi की समस्या से बचना चाहते हैं तो बहुत सारे ऐसे उपाय हैं जिनसे आप anxiety से छुटकारा पा सकते हैं।

  • Anxiety से बचने के लिए अपनी जिंदगी में बदलाव करें समय-समय पर डॉक्टर से अपना इलाज करवाते रहें।
  • किसी भी मामले को गंभीर तरीके से नहीं लेना चाहिए और उस पर ज्यादा विचार भी नहीं करना चाहिए। आप अपने गंभीर मामले के लिए किसी विशेषज्ञ से सलाह जरूर ले सकते हैं ताकि आपका दिमाग शांत रह सके।
  • अगर आपको एंजाइटी की समस्या है तो डॉक्टर से इसके बारे में विचार-विमर्श करके दवा ले सकते हैं। आप इंटरनेट पर देख कर anxiety की किसी भी दवा का इस्तेमाल ना करें। आपको डॉक्टर की सलाह पर ही anxiety की दवा लेनी होगी। साइकोथेरेपी दवा से भी आप anxiety से छुटकारा प्राप्त कर सकते हैं।

Anxiety के घरेलू उपाय

घरेलू इलाज के द्वारा भी anxiety meaning in hindi की समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है। बहुत सारे ऐसे घरेलू तरीके हैं जिनका इस्तेमाल करके आप Anxiety की समस्या को दूर कर सकते हैं।

रोज योगा करें

Anxiety की समस्या से अगर आप दूर रहना चाहते हैं तो आपको अपने दैनिक जीवन में रोजाना योगा करना चाहिए योगा करने से आपका दिमाग एकदम शांत रहेगा।

समय पर उठे और समय पर नींद ले

Anxiety की समस्या से अगर अगर आप आना चाहते हैं तो आपको समय पर नींद लेनी चाहिए और समय पर उठना चाहिए रात को फोन का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए।

संतुलित आहार का सेवन करें

Anxiety को दूर करने के लिए आप को संतुलित आहार खाना चाहिए आपको ज्यादा से ज्यादा प्रोटीन का सेवन भी करना चाहिए। संतुलित आहार का सेवन करने से आपका दिमाग एकदम संतुलित रहेगा।

काम में व्यस्त रहें

Anxiety से छुटकारा पाने का एक उपाय यह भी है आपको अपने काम में हमेशा व्यस्त रहना चाहिए ताकि आपके दिमाग में कोई और विचार उत्पन्न ना हो।

किसी भी बात पर ज्यादा विचार ना करें

Anxiety को दूर करने के लिए आपको किसी एक बात पर ज्यादा देर तक विचार नहीं करना चाहिए अगर आपको किसी बात की टेंशन है तो आप किसी विशेषज्ञ से बात कर सकते हैं वह आपकी समस्या का हल कर देगा।

हानिकारक चीजों से दूर रहें

Anxiety से दूर रहने के लिए आपको हानिकारक चीजों का सेवन नहीं करना चाहिए जैसे सिगरेट।

हल्दी का दूध का सेवन करें

Anxiety से दूर रहने के लिए आपको हल्दी के दूध का सेवन भी करना चाहिए क्योंकि हल्दी का दूध हमारी दिमाग के लिए काफी फायदेमंद होता है।

अपने दैनिक जीवन में फल का सेवन करें।

Anxiety की समस्या को सुलझाने के लिए आपको अपने दैनिक जीवन में फलों का सेवन भी करना चाहिए।

फैमिली और दोस्तों के साथ घूमने जाए

अगर आपको लगता है कि आपको बहुत ज्यादा चिंता या एंजाइटी की समस्या आती है तो आपको अपने परिवार और दोस्तों के साथ किसी स्थान पर पता नहीं एक बार या महीने में एक बार घूमने जरूर जाना चाहिए ताकि आप उस टॉपिक पर ज्यादा ना सोचे और आपका दिमाग एकदम शांत रहे और वह बात आपकी दिमाग से निकल जाए।

इन सभी घरेलू तरीकों का इस्तेमाल करके anxiety की समस्या से आप छुटकारा पा सकते हैं। Anxiety meaning in hindi के बारे में अब आपको समझ में आ गया होगा। अब आपको किसी भी प्रकार की चिंता नहीं होगी आप अपने को ज्यादा से ज्यादा स्वस्थ और शांत रखने की कोशिश करें।

एंजाइटी और डिप्रेशन में अंतर

एंजाइटी और डिप्रेशन में बहुत अंतर है। एंजाइटी के दौरान व्यक्ति को घबराहट और चिंता रहती है लेकिन डिप्रेशन में व्यक्ति पूरा मानसिक रूप से कमजोर हो जाता है और अपने को एक कमरे के अंदर बंद कर लेता है। एंजाइटी में व्यक्ति को केवल किसी विचार पर घबराहट या फिर चिंता होती है डिप्रेशन एंजायटी से कई ज्यादा बुरा है। डिप्रेशन के दौरान व्यक्ति पूरी तरीके से तनाव की स्थिति में आ जाता है और डिप्रेशन से जल्दी बाहर निकलना भी आसान नहीं है। डिप्रेशन और Anxiety meaning in hindi की समस्या में घटनाएं एक जैसी होती है लेकिन इनमें बहुत सारा अंतर देखने के लिए मिलता है।

एंजाइटी का सही होने का समय

अगर आपको एंजाइटी की समस्या है और आपने हमारे द्वारा बताए गए घरेलू तरीकों का इस्तेमाल किया है तो आप महीने के अंदर अपनी एंजाइटी की समस्या को दूर कर सकते हैं।

एंजाइटी में क्या खाना चाहिए?

एंजाइटी में हमेशा संतुलित आहार का सेवन करना चाहिए और समय पर भोजन करना चाहिए। एंजायटी की बीमारी से लड़ने में संतुलित आहार बहुत ज्यादा मदद करता है।

संतुलित आहार में कई सारे पोषक तत्व होते हैं जो दिमाग को मजबूत बनाते हैं। संतुलित पोषक तत्व के माध्यम से आप अपने दिमाग को एकदम स्वस्थ बना सकते हैं।

Anxiety Disorders Meaning In Hindi

  • शरीर में घबराहट
  • मन विचलित होना
  • अजीब सी बेचैनी
  • परेशान रहना।

एंजायटी कब तक ठीक होती है?

एंजाइटी को ठीक होने में लगभग 4 महीने या 6 महीने लग सकते हैं व्यक्ति के ऊपर निर्भर करता है कि वह किस प्रकार से उपचार कर रहा है।

Conclusion

Anxiety meaning in hindi आपको पता चल रही होगी आशा करती हूं कि अब आपको एंजाइटी वाला आर्टिकल पढ़कर बहुत सारी बातें समझ में आई होगी और आप अपनी एंजाइटी की समस्या को जल्द से जल्द दूर कर सकते हैं अगर आप कोई भी एंजाइटी की समस्या का सामना कर रहे हैं तो आपको हमारी द्वारा बताएं कि सभी घरेलू तरीकों का इस्तेमाल करना है।

Anxiety meaning in hindi video

Leave a Comment