KYC Full Form in Hindi – KYC क्या है और कैसे करें

KYC Full Form in Hindi जानना बहुत ही जरूरी है क्योंकि आजकल हम कोई भी काम करते हैं तो उसमें सबसे पहले KYC करने के लिए कहा जाता है।

ऑनलाइन एप्लीकेशन से लेकर बैंकिंग सेक्टर में तक हमें अब KYC की जरूरत पड़ती है बहुत सारे लोग उस टाइम तो KYC कर लेते हैं लेकिन उन्हें KYC Full Form in Hindi नहीं पता होता है। KYC अपने कस्टमर को पहचानने के लिए होती है। आज के समय में सभी बैंकिंग सेक्टर में KYC Full Form in Hindi जरूरी हो चुकी है। बहुत सारे स्टूडेंट ऐसे हैं जिन्हें

KYC भी नहीं पता है लेकिन KYC Full Form in Hindi कई बार एग्जाम ने भी पूछा जाता है इसलिए आपको पता होना चाहिए कि KYC क्या है, KYC Full Form in Hindi hai, केवाईसी कैसे की जाती है।

जब भी आपको एप्लीकेशन डाउनलोड करते होंगे उसमें कई सारे एप्लीकेशन आपसे KYC करने के लिए कहते होंगे और कई बार आप बैंक में जाते होंगे तो आपसे बैंक वाले भी कहते होंगे कि आप अपनी KYC को पूरा कर लीजिए। लेकिन आपको इस बात की जानकारी नहीं है कि KYC Full Form in Hindi क्या है क्योंकि यहां नाम आपने एकदम नया सुना होगा। इसलिए मैं आज आपको KYC Full Form in Hindi के बारे में पूरी जानकारी दूंगा। जब आप गूगल पर सर्च करेंगे तो आपको KYC Full Form in Hindi के बारे में सारी जानकारी मिल जाए इसलिए आपको इस आर्टिकल को पूरा विस्तार से नीचे तक करना होगा इस आर्टिकल पर आपको केवाईसी से संबंधित अन्य जानकारियां भी मिलेंगी।

Advertisement

RBI Bank ka full form kya hai आरबीआई बैंक का फॉर्म आरबीआई बैंक की स्थापना कब हुई थी

MLM Ka Full Form In Hindi MLM kya hai एमएलएम क्या है पूरी जानकारी हिंदी में

SSC Full Form In Hindi एसएससी का फुल फॉर्म क्या होता है

BA Ka Full From In Hindi – बीए का फुल फॉर्म क्या है

Advertisement

NCC Full Form in hindi -NCC का फुल फॉर्म क्या है

KYC (Full Form in Hindi) – केवाईसी फुल फॉर्म इन हिंदी

KYC Full Form in Hindi Know Your Customer पहचानिए अपने कस्टमर को, जानिए अपनी ग्राहक को।

केवाईसी की शुरुआत भारत में रिजर्व बैंक के द्वारा 2002 में की थी। शुरुआत में केवाईसी को इतना महत्व नहीं दिया जाता था लेकिन धीरे-धीरे डिजिटल कारण के कारण भारत में भी केवाईसी को बहुत ज्यादा महत्व दिया जा रहा है बैंकिंग सेक्टर से लेकर अब ऑनलाइन सेक्टर में भी केवाईसी का इस्तेमाल किया जा रहा है। किसी भी एप्लीकेशन पर अकाउंट बनाने से पहले KYC करनी होती है।

बैंक सेक्टर में केवाईसी का बहुत ही महत्व माना जाता है क्योंकि इससे बैंकों को बहुत ज्यादा प्रॉफिट मिलता है क्योंकि वह अपने कस्टमर को बहुत आसानी से पहचान सकता है उसका कस्टमर रियल है या नहीं।

अब ऑनलाइन ट्रांजैक्शन के लिए जितने भी एंड्रॉयड एप्लीकेशन गूगल प्ले स्टोर में है उन सभी में अकाउंट बनाने के बाद केवाईसी को पूरा करना आवश्यक है। भारत में पेटीएम फोन पे, गूगल पे और जितनी भी क्रिप्टो करेंसी और शेयर मार्केट से संबंधित एप्लीकेशन है इन सभी पर पहले कस्टमर को अपनी KYC पूरी करनी होती है।

KYC Full Form in Hindi का प्रयोग ऑफलाइन बैंकिंग सेक्टर में होता है लेकिन जब हम ऑनलाइन केवाईसी को कहते हैं तो उसे E KYC कहा जाता है क्योंकि यहां पर हम इलेक्ट्रिक रूप से केवाईसी करते हैं। ईकेवाईसी में ऑनलाइन डिजिटल रूप से कस्टमर की पहचान की जाती है।

अब तक आपको  KYC Full Form in Hindi समझ में आ गया होगा अब आपसे किसी भी एग्जाम में और कोई भी व्यक्ति KYC Full Form in Hindi पूछेगा तो आप बहुत आसानी से बता सकते हैं।

KYC क्या है 

इंडिया में 2002 में केवाईसी का इस्तेमाल केवल बैंकिंग सेक्टर में ही किया जा रहा है और केवाईसी की मदद से बैंक अपने कस्टमर की पहचान को सत्यापित करता है बैंक में दिए जाने वाले सभी डॉक्यूमेंट को और मोबाइल नंबर को ओटीपी के द्वारा तथा आधार कार्ड नंबर को भी ओटीपी के द्वारा सत्यापित किया जाता है और जब यहां सारी प्रक्रिया होती है उसे KYC का नाम दिया जाता है।

बैंक केवाईसी कराने से पहले कस्टमर को 1 केवाईसी फॉर्म देता है और उसके बाद सभी डॉक्यूमेंट की सॉफ्ट कॉपी लगाने के लिए कहता है। लेकिन वर्तमान समय में आधार कार्ड के द्वारा बैंक ईकेवाईसी के द्वारा कस्टमर की पहचान कर रहा है। अब तक आपको KYC Full Form in Hindi के बारे में तो जानकारी मिल गई है और अब आपको यह भी पता चल गया है कि केवाईसी क्या है।

बैंक में हर साल  केवाईसी को किया जाता है एक कस्टमर को 1 साल में एक बार या फिर 6 महीने के अंदर केवाईसी को करना होता है ताकि आरबीआई बैंक पता लगा सके की किसी बैंक और कंपनी के द्वारा कस्टमर के डॉक्यूमेंट का गलत इस्तेमाल तो नहीं किया जा रहा है इसलिए आरबीआई बैंक ने नियम निकाला है कि कस्टमर को हर 1 साल में एक बार KYC जरूर करनी है।

KYC जरूरी क्यों है?

आज के समय में हर एक सेक्टर के लिए केवाईसी बहुत ही जरूरी है। जिस तरीके से बैंक अपने कस्टमर को पहचानता है उसी प्रकार आप सभी लोग अपने कस्टमर को पहचानने के लिए केवाईसी का इस्तेमाल कर रहे हैं और अभी तो एक केवाईसी का सबसे ज्यादा ट्रेंड चल रहा है।

KYC इसलिए जरूरी है कि कोई भी व्यक्ति बैंक के साथ या फिर किसी दूसरे व्यक्ति या कंपनी के साथ धोखा ना कर सके। इसलिए बैंक केवाईसी करते समय सभी डॉक्यूमेंट की सॉफ्ट कॉपी लेता है। लेकिन वर्तमान समय में ईकेवाईसी करते समय ओरिजिनल डॉक्यूमेंट की कॉपी अपलोड करनी पड़ती है और साथ-साथ अपनी फोटो और सिग्नेचर की अपलोड करने पड़ते हैं। ताकि व्यक्ति की एक रियल पहचान को समझा जा सके। तब तो आपको KYC Full Form in Hindi के बारे में पता लग गया होगा।

KYC के लिए जरूरी डॉक्यूमेंट

जब भी आप KYC Full Form in Hindi करते हैं तो आपके पास ओरिजिनल डॉक्यूमेंट का होना जरूरी है और ओरिजिनल डॉक्यूमेंट में निम्नलिखित डॉक्यूमेंट होनी जरूरी है जैसे

  • आधार कार्ड
  • पैन कार्ड
  • मोबाइल नंबर
  • फोटो
  • ड्राइविंग लाइसेंस
  • वोटर आईडी

बैंक में केवाईसी करते समय आपको इन सभी डॉक्यूमेंट की सॉफ्ट कॉपी ले जाने होगी लेकिन जब आप ईकेवाईसी करेंगे तो आपको इन सभी डॉक्यूमेंट की फोटोज अपलोड करनी होगी।

बैंक में ऑनलाइन केवाईसी फॉर्म कैसे भरें – Bank Mai online KYC form Kaise bhare

बैंक में केवाईसी फॉर्म को 2 तरीके से भर सकते हैं एक ऑनलाइन और दूसरा ऑफलाइन। बहुत सारे लोग ऐसे हैं जो KYC Full Form in Hindi के फोरम को बैंक में जाकर ऑफलाइन रूप से भरते हैं लेकिन बहुत सारे कस्टमर ऐसे होते हैं जो बैंक से दूर रहते हैं और वह घर बैठकर केवाईसी फॉर्म भरना चाहते हैं।

उदाहरण के लिए आपको इंडियन बैंक में केवाईसी फॉर्म भरना है और आप ऑनलाइन फॉर्म भरना चाहते हैं तो दिए गए स्टेप को फॉलो कर सकते हैं।

  • सबसे पहले आपको Indian Bank Ekyc टाइप करके गूगल पर सर्च कर लेना है ।
  • Indian Bank Ekyc को सर्च करने के बाद आपके सामने ऑफिशल वेबसाइट आ जाएगी। अब आपको Indian Bank Ekyc वेबसाइट को ओपन कर लेना है इसके बाद आपको यहां पर एक फॉर्म खुलकर नीचे मिलेगा।
  • अब आपको अपना बैंक अकाउंट नंबर और मोबाइल नंबर एंटर करना है और इसके नीचे आपको कर कैप्चर दिए जाएंगे आप उन कैप्चर को भरकर सबमिट के बटन पर क्लिक कर देना है।
  • इसके बाद आपके मोबाइल नंबर पर इंडियन बैंक द्वारा एक ओटीपी आएगा और आपको उस ओटीपी को वेरीफाई कर लेना है।
  • वैसे तो आजकल सभी बैंक केवाईसी के माध्यम से ही केवाईसी कर ले रहे हैं। ईकेवाईसी में केवल आधार कार्ड और मोबाइल नंबर की ही आवश्यकता पड़ती है। आप ईकेवाईसी को बैंक के एंड्रॉयड एप्लीकेशन के माध्यम से भी आसानी से कर सकते हैं। अब तक तो आपको KYC Full Form In Hindi के बारे में अच्छे से ही पता लग गया होगा।

बैंक में केवाईसी कैसे करें

आप बैंक में ऑफलाइन केवाईसी को बहुत आराम से कर सकते हैं।

  • सबसे पहले आपको अपने ब्रांच में जाकर KYC Full Form In Hindi के लिए संपर्क करना होगा।
  • इसके बाद आपको बैंक मैनेजर की तरफ से एक KYC Full Form In Hindi फॉर्म दिया जाएगा। आपको इस फॉर्म को पूरा भरना होगा और इस पर आपको अपनी बैंक डिटेल तथा आधार कार्ड पैन कार्ड और मोबाइल नंबर एड्रेस की पूरी जानकारी भरनी होगी।
  • इसके बाद आपको अपने सारे डॉक्यूमेंट जैसे आधार कार्ड और पैन कार्ड की फोटो कॉपी फॉर्म के साथ लगानी होगी।
  • लास्ट में फॉर्म में सिग्नेचर करके आपको केवाईसी फॉर्म को बैंक मैनेजर को दे देना है।
  • इस तरीके से आप बहुत ही आसानी से बैंक में जाकर 1 मिनट के अंदर केवाईसी को पूरा कर सकते है।

KYC कराने के फायदे

केवाईसी कराने के बहुत सारे फायदे हैं और बैंक भी अपने फायदे के लिए केवाईसी करवाता है।

  • KYC Full Form In Hindi कराने का सबसे बड़ा फायदा यह है कि अगर आप अपने बैंक से पैसे निकालते हैं तो सबसे पहले आपको आपके निकाला गया अमाउंट पता चल जाएगा।
  • केवाईसी कराने का डोसा बढ़ाया फायदा है कि यहां पर आपको आपके बैंक से संबंधित और ओटीपी आपके मोबाइल नंबर पर मिल जाएगी।
  • KYC Full Form In Hindi कराने का तीसरा फायदा यह है कि बैंक को भी समर के बारे में रियल जानकारी पता रहेगी।
  • केवाईसी कराने का चौथा सबसे बड़ा फायदा यह है कि अगर आप एटीएम कार्ड या फिर के चेक बुक के लिए अप्लाई करते हैं तो आपके एड्रेस पर चेक बुक एटीएम बहुत आसानी से पहुंच जाएगा।
  • KYC Full Form In Hindi का पांचवा फायदा यह है कि अगर आपकी बैंक के एटीएम से कोई पैसे निकालने की कोशिश करता है तो उसका मैसेज आपके मोबाइल फोन पर आ जाएगा।
  • केवाईसी कराने से बैंक और कस्टमर दोनों फ्रॉड से बच सकते हैं। अगर कोई आपके बैंक अकाउंट से पैसे निकालने की कोशिश करता है तो सबसे पहले ओटीपी आपकी ही बैंक पर आएगा।

केवाईसी के प्रकार

केवाईसी दो प्रकार की होती है जो इस प्रकार है

  • ईकेवाईसी
  • सीकेवाईसी

1 ईकेवाईसी

ई केवाईसी का पूरा नाम Electronic know your customer  इस केवाईसी में कस्टमर को अपने डॉक्यूमेंट अपलोड करने होते हैं यह एक प्रकार से डिजिटल केवाईसी भी है।

2 सीकेवाईसी

सीकेवाईसी का पूरा नाम Central know your customer है इस केवाईसी में पूरे सेंट्रल लेवल पर केवाईसी कराने बहुत जरूरी होती है चाहे वहां सेंट्रल बैंक हो या फिर प्राइवेट या गवर्नमेंट बैंक इन सभी बैंक में कस्टमर को केवाईसी कराना आवश्यक है।

KYC full form download

अगर आप किसी भी बैंक में केवाईसी कराना चाहते हैं और केवाईसी के लिए केवाईसी फॉर्म डाउनलोड करना चाहते हैं तो आप उस बैंक की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाकर KYC full form download को डाउनलोड कर सकते हैं। नीचे आपको स्टेप बाय स्टेप बताया जाएगा कि आप KYC full form download किस तरीके से डाउनलोड कर सकते हैं।

  • उदाहरण के लिए मान लेते हैं आपको एसबीआई बैंक KYC full form download को डाउनलोड करना है।
  • तो सबसे पहले आपको ब्राउज़र पर Sbi Bank KYC Form Download को टाइप करके सर्च कर लेना है।
  • इसके बाद आपके सामने Sbi Bank KYC Form Download करने के लिए एसबीआई की ऑफिशल वेबसाइट आएगी। आपको एसबीआई की वेबसाइट ओपन करनी है।
  • जैसे ही आप इस वेबसाइट पर ओपन करेंगे तो Sbi Bank KYC Form Download होना शुरू हो जाएगा और आपके मोबाइल फोन पर आ जाएगा।
  • इस तरीके से आप बहुत ही आसानी से Sbi Bank KYC Form Download कर सकते हैं।

FAQ

KYC full Form in Hindi Kaise bhare

केवाईसी फॉर्म को आप हिंदी में नहीं बढ़ सकते हैं अगर आपको KYC full Form in Hindi में भरना है तो इसलिए आपको बैंक मैनेजर से बात करनी होगी और अगर बैंक मैनेजर की बात हिंदी में सॉन्ग होगा तो वह आपको हिंदी वाला फॉर्म दे सकता है क्योंकि अधिकांश बैंक केवाईसी फॉर्म को जो लैंग्वेज में रखते हैं हिंदी और इंग्लिश में लेकिन आज के समय में अधिकांश बैंक केवाईसी फॉर्म को इंग्लिश नहीं रख रहे हैं। अगर आपको केवाईसी फॉर्म इंग्लिश में भरना नहीं आता है तो आपको घबराना नहीं चाहिए आप बैंक के किसी भी कर्मचारी से KYC full Form in Hindi की जगह इंग्लिश में भरा आ सकते हैं।

Aadhaar kyc full form in hindi

आधार केवाईसी का फुल फॉर्म है आधार कनाऊ युर कस्टमर। आधार केवाईसी का मतलब होता है कि आधार कार्ड से लिंक कस्टमर के बारे में जानकारी। आजकल हर बैंक आधार कार्ड के द्वारा ही KYC को कर रहे हैं।

KYC Full Form In Hindi Conclusion

केवाईसी के बारे में अब आपको पूरी जानकारी मिल गई होगी और आपको पता भी लग गया होगा कि KYC Full Form In Hindi आपसे किसी भी एग्जाम में या फिर कभी भी कोई केवाईसी का फुल फॉर्म पूछेगा तो आप उसे बहुत ही आसानी से बता सकते हैं आपसे कोई से संबंधित प्रश्न पूछेगा तो उसके जवाब दे सकते हैं।

KYC Full Form In Hindi Video

Leave a Comment