चमार को काबू में कैसे करें – Chamar Ko Kabu Mein Kaise Karen

आज की इस पोस्ट में हम आपको बताने वाले हैं कि चमार को काबू में कैसे करें

आज के समय में अधिकांश लोग गूगल सर्च इंजन पर आकर चमार को काबू में कैसे करें के बारे में जानकारी प्राप्त करने का प्रयास कर रहे हैं।

Advertisement

दुनिया का सबसे बड़ा सर्च इंजन है और यहां पर आपको हिंदी और इंग्लिश तथा अन्य भाषा में जानकारियां प्राप्त होती है लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि गूगल आपको कोई भी जानकारी देना शुरु कर देगा हालांकि कुछ ऐसी वेबसाइट है जो बता रही है कि चमार को काबू में कैसे किया जा सकता है।

गूगल एक बहुत ही बड़ा सर्च इंजन है और यहां पर आप अपनी टॉपिक से संबंधित सभी जानकारियों को प्राप्त कर सकते हैं। गूगल का प्रयास रहता है कि आप को एकदम सटीक जानकारी दी जाए।

आज की इस पोस्ट में हम आप को चमार जाति से संबंधित महत्वपूर्ण तथ्य के बारे में बताने वाले हैं और अगर आप चमार जाति से संबंधित जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो आपको नीचे दी गई चमार से संबंधित सारी जानकारी पढ़नी होगी।

चमार को काबू करने से पहले चमार जाति का इतिहास पढ़ें

चमार जाति दक्षिण एशिया का सबसे बड़ा दलित समुदाय माना जाता है और यह दक्षिण एशिया के सभी देशों में निवास करते हैं भारत से लेकर पाकिस्तान में चमार जाति के लोग आपको मिल जाएंगे।

भारत की आधुनिक सामाजिक प्रणाली के अनुसार चमार जाति अनुसूचित जाति में आती है और प्राचीन काल में माना जाता था कि चमार जाति का कार्य केवल चमड़े से संबंधित व्यवसाय करना था लेकिन चमार जाति के लोग चमड़े के अलावा कृषि संबंधित सारे कार्य करते हैं।

Advertisement

समाज में कुछ लोगों ने चमार जाति के प्रति एक छोटी सी सोच बनाई है उनका मानना है कि चमार जाति के लोग केवल चमड़े से संबंधित काम कर सकते हैं लेकिन आज के समय में भारत के प्रशासन पद पर चमार जाति के कई लोग बैठे हैं।

लेकिन अंग्रेजों द्वारा चमार जाति को सम्मान दिया गया है अंग्रेजों ने द्वितीय विश्व युद्ध में चमार जाति के लोगों की वीरता को देखते हुए चमार रेजिमेंट की स्थापना की और द्वितीय विश्व युद्ध में चमार जाति के लोग अंग्रेजों की तरफ से शामिल हुए।

भीमराव अंबेडकर भी चमार जाति से संबंधित थे और आज भारत के संविधान के निर्माता एक चमार जाति का व्यक्ति माना जाता है भीमराव अंबेडकर ही ऐसे व्यक्ति थे जिन्होंने समाज में दलित वर्ग के लिए लड़ाई लड़ी और आज के समाज में दलित वर्ग को बराबर का हक दिलाया है।

Chamar Ko Kabu Mein Kaise Karen
Chamar Ko Kabu Mein Kaise Karen

चमार जाति को काबू करने से पहले चमार जाति के व्यक्तियों के बारे में जानकारी प्राप्त करें

अगर आप चमार जाति को काबू करना चाहते हैं तो आप को चमार जाति के बारे में तथा चमार जाति से संबंधित व्यक्तियों के बारे में सारी जानकारी होनी चाहिए जो कि आप चमार जाति के लोगों को हल्के में ले रहे हैं।

#1. काशीराम राम

काशीराम चमार जाति से संबंधित है और भारत में बहुजन समाज पार्टी की स्थापना करने का श्रेय काशीराम को ही चाहता है उत्तर प्रदेश में बहुजन समाज पार्टी ने कई सालों तक शासन चलाया है। एक चमार जाति का व्यक्ति राज्य में शासन चला रहा है और आप उसे हलके में ले रहे हैं।

#2. मायावती

मायावती का नाम आप सभी लोगों ने सुना होगा जिनका यूपी में एक समय में दबदबा चलता था और मायावती भी चमार जाति से संबंधित मानी जाती है। चमार जाति के पुरुष ही नहीं बल्कि चमार जाति की महिला भी समाज में सबसे आगे है इसलिए चमार जाति को काबू करने से पहले एक बार जरूर सोचें।

#3. बेबी रानी मौर्य

बेबी रानी मौर्य भाजपा की कैबिनेट मंत्री और उत्तराखंड की पूर्व राज्यपाल रह चुकी है और बेबी रानी मौर्य भी चमार जाति से संबंधित है। आप देख सकते हैं कि चमार जाति की महिलाएं कितने ऊंचे पद पर है। एक चमार जाति की महिला किसी राज्य की राज्यपाल है यह चमार जाति के लिए सबसे बड़े सम्मान की बात भी है।

#4. संत रविदास

संत रविदास मध्यकाल के महान संत माने जाते हैं और इनकी वाणी को गुरु ग्रंथ साहिब में भी अपनाया गया है एक चमार जाति का संत दूसरे धर्मों में भी अपना प्रभाव छोड़ता है क्योंकि कई सारे धर्म के लोग चमार जाति का बहुत ज्यादा सम्मान करते हैं।

#5. जगजीवन राम और मीरा कुमारी

जगजीवन राम और मीरा कुमारी का नाम तो आप सभी ने जरूर सुना होगा। जगजीवन राम भारत के पूर्व प्रधानमंत्री रह चुके हैं तथा उनकी बेटी भारत की पूर्व लोकसभा अध्यक्ष रह चुकी है अब आप समझ सकते हैं कि चमार जाति को काबू करना कितना मुश्किल है।

चमार जाति ने भारतीय राजनीतिक दलों में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है कई सारे ऐसे चमार जाति के लोग हैं जो हमेशा उच्च पद पर रहते हैं जैसे श्यामसुंदर दास, काशीराम बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और चंद्रशेखर आजाद राणा आदि।

द्रौपदी मुर्मू राष्ट्रपति भी दलित समुदाय से संबंधित है यह संथाल जाति से संबंधित मानी जाती हैं जिन्हें आदिवासी जनजाति भी कहा जाता है दलित समुदाय समुदाय को कहते हैं जहां पर लोगों को दबाया जाता है इसी प्रकार से चमार जाति को भी दबाया गया है लेकिन अब चमार जाति के लोग भी स्वतंत्र है।

मुसलमान को काबू में कैसे करें – Musalman Ko Kabu Mein Kaise Karen

Police ko kabu kaise kare – पुलिस को काबू में कैसे करें

Up Ke Ladke Kaise Kabu Kare – यूपी के लड़कों को काबू में कैसे करें

Up Ke Ladke Kaise Kabu Kare – यूपी के लड़कों को काबू में कैसे करें

चमार जाति को काबू में कैसे करें ( Chamar Ko Kabu Mein Kaise Karen)

  1. अगर तेरी औकात है तो तू चमार जाति को काबू करके दिखा जिस दिन तुझे चमार जाति की औकात पता चलेगी उस दिन तेरी सिट्टी पिट्टी गुम हो जाएगी।
  1. चमार लोगों से चमार गिरी लेना हमेशा महंगा पड़ता है माना कि चमार जाति के लोग चमड़े का कार्य करते थे लेकिन चमार लोग उसी चमड़े से अपने दुश्मन की पिटाई भी करते थे।
  1. क्या समाज में लोग छोटे-मोटे कार्य नहीं करते हैं हमेशा छोटे कार्य करके के ऊपर उठता है। चमार को काबू करने  से पहले भीमराव अंबेडकर के द्वारा लिखा गया संविधान पढ़।
  1. अंग्रेज भी चमार जाति से डरते थे और तू तो बेटा सिंगल इंसान है।
  1. युद्ध के क्षेत्र में चमार की चलती है चमार एशिया में नहीं बल्कि यूरोप और अफ्रीका में भी बस चुके हैं जहां पर उनकी चलती है।
  1. एक बार चमड़े की कीमत और चमड़े से मार खा कर देख तुम तुझे अपनी औकात पता चल जाए।

चमार को काबू में कैसे करें

  • अब तक तो आप समझ गए होंगे कि आप चमार को काबू में नहीं कर सकते लेकिन आप जानवर से बहुत ही अच्छे से दोस्ती कर सकते हैं।
  • चमार को काबू में करने के लिए आपको सबसे पहले चमार से दोस्ती करनी होगी। चमार से दोस्ती करने के लिए बाद आप चमार के लोगों को समझ सकते हैं और उनसे जो आपको काम निकलवाना है निकलवा सकते हैं।
  • चमार जाति के इतिहास के बारे में चमार जाति के लोगों से बात करें। जब कोई व्यक्ति चमार जाति से इतिहास के बारे में बात करता है तो वह बहुत ही खुश होते हैं क्योंकि उनका इतिहास बहुत ही कठिनाइयों से भरा है और उन कठिनाइयों से लड़कर उन्होंने समाज में अपनी पहचान बनाई है।
  • चमार को काबू में करने के लिए चमार जाति के प्रसिद्ध व्यक्तियों के बारे में बात कर सकते हैं आप समाज में द्वारा दी गई देन के बारे में भी बात कर सकते हैं क्योंकि चमार जाति के व्यक्ति ने भारत को संविधान दिया है।
  • चमार को काबू में लाने के लिए हमेशा मीठी मीठी मीठी बातें करें और जात पात के बारे में तो कुछ भी बात ना करें क्योंकि मैं बहुत ही जल्दी गुस्सा आ जाएगा।
  • चमार को काबू में करने के लिए चमार से कभी भी दुश्मनी मोल ना ले जिस दिन आपने चमार से दुश्मनी मोल ले ली तो वह अपनी असली औकात में दिखाएगा।
  • चमार को काबू में लाने के लिए कभी भी उनके व्यवसाय यानी कि चमड़े के बारे में बात ना करें। क्योंकि उन्हें ऐसा लगेगा कि आप उनसे बिजनेस को छोटा बता रहे हैं।
  • चमार को काबू में करने के लिए आपको हमेशा सकारात्मक बातों का सहारा देना होगा आपको उनसे एक भी नकारात्मक बात नहीं करनी है।
  • चमार को काबू में करने के लिए आप उनके संस्कार और संस्कृति के बारे में भी बात करनी होगी और जाने का प्रयास करना होगा कि उनकी सांस्कृतिक कैसी है और हमेशा उनकी संस्कृति की तारीफ करनी होगी।
  • आप को चमार को काबू में करने के लिए हमेशा उनकी मदद करनी होगी ताकि वह आप से प्रभावित हो सके और आपको अपना दोस्त बना सके।
  • चमार जाति के लोग बहुत ही सरल स्वभाव के होते हैं और उन्हें समझना आसान होता है वह एक साधारण व्यक्ति होते हैं और उनका वेशभूषा भी साधारण होता है इसलिए आपको उनके सामने साधारण रहना है इसलिए आप चमार जाति के लोगों को काबू कर सकते हैं।

निष्कर्ष

आप पढ़े लिखे व्यक्ति हैं और समझदार व्यक्ति हैं तो आपको पता लग गया होगा कि चमार को काबू में कैसे करें के बारे में आपको कभी भी जानकारी नहीं मिल सकती।

क्योंकि चमार को काबू करना आसान काम नहीं है आज के समय में चमार जाति की पहचान पूरे भारत में है। चमार जाति का व्यक्ति आज के समय में भारत का राष्ट्रपति से लेकर उप प्रधानमंत्री तथा प्रधानमंत्री से लेकर अन्य राज्य का राज्यपाल है।

Leave a Comment