डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन कैसे करें – Distance learning Se Graduation Kaise karen 2022

डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन कैसे करें - Distance learning Se Graduation Kaise karen
Distance learning Se Graduation Kaise karen

डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन कैसे करें बारे में आज हम इस पोस्ट में बात करने वाले हैं क्योंकि अधिकांश बच्चे ट्वेल्थ पास करने के बाद डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन करना चाहते हैं लेकिन उन्हें इस टॉपिक के बारे में बिल्कुल भी जानकारी नहीं होती है।

Advertisement

जैसा कि हम सभी जानते हैं कि कक्षा ट्वेल्थ पास करने के बाद अधिकतर स्टूडेंट रेगुलर कॉलेज में असमर्थ रहते हैं जिसके कारण उन्हें डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन करनी पड़ती है।

डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन लाखों स्टूडेंट हड़ताल करते हैं। डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन करना बहुत ही आसान है लेकिन आपको इसके लिए सही कॉलेज का चुनाव भी करना चाहिए।

बहुत सारे लोग ऐसे हैं जो डिप्लोमा कोर्स करते हैं और साथ-साथ ग्रेजुएशन की पढ़ाई भी पूरी करना चाहते हैं। अगर आप भी प्राइवेट पढ़ाई करना चाहते हैं और कॉलेज का चुनाव करने में आपको बहुत सारी समस्या आ रही है तो आप इस आर्टिकल को पूरा पढ़ सकते हैं इस आर्टिकल में आज आपको डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन कैसे करें के बारे में स्टेप बाय स्टेप जानकारी दी जाएगी।

Table of Contents

डिस्टेंस लर्निंग क्या है 

डिस्टेंस लर्निंग एक प्राइवेट संस्थान होते हैं जहां से आप ग्रेजुएशन और पोस्ट ग्रेजुएशन की पढ़ाई पूरी कर सकते हैं। डिस्टेंस लर्निंग फोन स्टूडेंट के लिए होती है जो कॉलेज में जाना चाहते हैं और जिनके पास रेगुलर पढ़ाई करने का समय नहीं है।

डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन करने पर आपको सिर्फ एग्जाम के समय में कॉलेज में जाना होता है। अगर आप डिप्लोमा कोर्स के साथ अपनी ग्रेजुएशन पढ़ाई पूरी करना चाहते हैं तो आप डिस्टेंस लर्निंग के माध्यम से कर सकते हैं।

विदेशों में ही नहीं बल्कि भारत में भी कई सारे ऐसे प्राइवेट कॉलेज है जहां से अब डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन की पूरी पढ़ाई कर सकते हैं।

डिस्टेंस लर्निंग के माध्यम से आप कक्षा टेंथ और ट्वेल्थ की पढ़ाई भी कर सकते हैं। रेगुलर क्लासेस में स्टूडेंट को रेगुलर पढ़ाई करनी होती है और साथ में ऑनलाइन टेस्ट और असाइनमेंट देने होते हैं जबकि डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन करने पर आपको केवल साल में एक बार एग्जाम देना होता है।

Advertisement

 लेकिन 2021 में अब डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन  करने पर आपको साल में दोबारा एग्जाम देने होंगे आप प्राइवेट कॉलेज में भी सेमेस्टर सिस्टम लागू हो चुका है।

डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन कैसे करें –

चलिए बात करते हैं कि आप प्राइवेट कॉलेज कैसे कर सकते हैं यानी डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन कैसे कर सकते हैं। डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन करने के लिए आपको सबसे पहले अपने कॉलेज का चुनाव करना होगा और कॉलेज के बाद आपको अपने ग्रेजुएशन सब्जेक्ट का चुनाव करना होगा।

डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन करने के लिए कॉलेज का चुनाव करें

डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन करने के लिए आपको सबसे पहले कॉलेज का चुनाव करना होगा सभी राज्य में अलग-अलग प्राइवेट कॉलेज है जैसे इंदिरा गांधी मुक्त विश्वविद्यालय यह कॉलेज कि सभी राज्य में है इसके अलावा सभी राज्य की अपनी एक ओपन यूनिवर्सिटी है। लेकिन कुछ ऐसे विश्वविद्यालय भी हैं जो रेगुलर ग्रेजुएशन के साथ-साथ प्राइवेट रूप से भी ग्रेजुएशन कर आते हैं।

2016 से कुछ राज्य विश्वविद्यालयों ने प्राइवेट पढ़ाई को हटाकर रेगुलर पढ़ाई में भी सेमेस्टर सिस्टम लागू कर दिया है। आप स्टूडेंट केवल इंदिरा गांधी मुक्त विश्वविद्यालय और राज्य ओपन यूनिवर्सिटी के माध्यम से ही डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन कर सकते हैं।

  • नेताजी सुभाष चंद्र बोस यूनिवर्सिटी
  • इंदिरा गांधी मुक्त विश्वविद्यालय
  • भीमराव अंबेडकर यूनिवर्सिटी
  • मद्रास ओपन यूनिवर्सिटी
  • उत्तराखंड ओपन यूनिवर्सिटी
  • दिल्ली ओपन यूनिवर्सिटी आदि।
IGNOUइंदिरा गांधी ओपन यूनिवर्सिटी
Uttrakhndh Open Universityउत्तराखंड ओपन यूनिवर्सिटी

डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन करने के लिए सब्जेक्ट का चुनाव करें?

डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन करने के लिए आपको सब्जेक्ट का चुनाव भी करना होगा अगर आपने कक्षा 12वीं की पढ़ाई साइंस से की है तो आप यहां से बीएससी की पढ़ाई भी कर सकते हैं आपने आर्ट साइड ली थी तो आप ग्रेजुएशन में b.a. की पढ़ाई भी कर सकते हैं। आप यहां पर अलग-अलग सब्जेक्ट से ग्रेजुएशन की पढ़ाई कर सकते हैं।

SSC Full Form In Hindi – एससीसी का फुल फॉर्म क्या होता है

RBI Bank ka full form kya hai

EWS का फुल फॉर्म क्या है – EWS Full Form in Hindi

Coding Kya Hota Hai in Hindi OR Kaise Sikhe

Top 11 Online paise kamane ka tarika – ऑनलाइन पैसे कमाने के तरीके

डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन करने के लिए आवेदन करें

डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन करने के लिए आपको ऑनलाइन आवेदन करने होंगे आप। ओपन यूनिवर्सिटी की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाकर चेक कर सकते हैं कि ग्रेजुएशन के लिए कब अप्लाई किया जा रहा है। इंदिरा गांधी मुक्त विश्वविद्यालय में दिसंबर और मार्च के महीने में ग्रेजुएशन के लिए ऑनलाइन आवेदन किए जाते हैं और राज्य ओपन यूनिवर्सिटी में अगस्त और सितंबर के महीने में ग्रेजुएशन के लिए ऑनलाइन आवेदन किए जाते हैं।

 डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन के लिए ऑनलाइन आवेदन कैसे करें?

डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन करने के लिए अगर आप ऑनलाइन आवेदन करना चाहते हैं तो रात को ओपन यूनिवर्सिटी की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाना है आप अगर अपने राज्य की ओपन यूनिवर्सिटी से डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन करना चाहते हैं तो आपको अपनी राज की ओपन यूनिवर्सिटी की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाना होगा।

ऑफिशियल वेबसाइट पर जाने के बाद आपको चेक करना होगा कि ऑनलाइन फॉर्म ग्रेजुएशन के लिए अवेलेबल है या नहीं।

अगर आपको वेबसाइट पर ग्रेजुएशन की पढ़ाई के लिए लिंक मिल जाएगा तो आपको इस लिंक पर क्लिक करना है और यहां पर आपको अपनी जानकारी भरनी होगी और आपको अपनी कक्षा ट्वेल्थ और मार्कशीट और पासपोर्ट साइज फोटो अपलोड करनी होगी। ईमेल आईडी मोबाइल नंबर और सर्टिफिकेट में जो आपका नाम है वही नाम टाइप करना होगा।

इस तरीके से आपको पूरा फॉर्म भरना होगा और अंत में आपको फीस सबमिट करनी होगी।

इसके बाद आप को चेक करते रहना है कि एग्जाम के लिए एग्जामिनेशन फॉर्म कब भरे जा रहे हैं और उस फॉर्म को भी आपको बनना होगा अगर आप एग्जामिनेशन फॉर्म करेंगे तो आपको एग्जाम में नहीं बैठने दिया जाएगा इसलिए आपको समय-समय पर अपनी ओपन यूनिवर्सिटी की वेबसाइट पर नोटिफिकेशन को चेक करते रहना है।

डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन करने के लिए ऑफलाइन अप्लाई कैसे करें?

डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन करने के लिए आपको ऑफलाइन फॉर्म अप्लाई करने की आवश्यकता नहीं है क्योंकि सभी प्राइवेट ओपन यूनिवर्सिटी ने आवेदन के लिए ऑनलाइन प्रक्रिया को अपना लिया है अब सभी प्राइवेट ओपन यूनिवर्सिटी में सभी लोग डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन करने के लिए केवल ऑनलाइन ही आवेदन कर सकते हैं।

डिस्टेंस लर्निंग की मदद से कौन-कौन से कोर्स करे जा सकते हैं?

डिस्टेंस लर्निंग के माध्यम से आप अलग-अलग कोर्स को कर सकते हैं क्योंकि यहां पर आपको बहुत सारे कोर्स की लिस्ट मिल जाएगी सभी ओपन यूनिवर्सिटी ने अपनी ऑफिशल वेबसाइट पर डिस्टेंस लर्निंग से किए जाने वाले कोर्स की एक लिस्ट दी है आप उस लिस्ट को डाउनलोड करके कोर्स चेक कर सकते हैं।

  1. बिजनेस मैनेजमेंट स्टडी
  2. बैचलर ऑफ आर्ट
  3. बैचलर ऑफ एजुकेशन
  4. बैचलर ऑफ फार्मेसी
  5. बैचलर ऑफ साइंस
  6. बैचलर ऑफ टेक्नोलॉजी
  7. बैचलर ऑफ कंप्यूटर साइंस

इनके अलावा भी डिस्टेंस लर्निंग से बहुत सारे ग्रेजुएशन के कोर्स किए जा सकते हैं और यहां पर आपको ग्रेजुएशन के साथ-साथ पोस्ट ग्रेजुएशन के लिए भी सभी कोर्स मिल जाएंगे।

डिस्टेंस लर्निंग में ग्रेजुएशन की फीस क्या है?

डिस्टेंस लर्निंग के माध्यम से अगर आप अपनी ग्रेजुएशन की पढ़ाई पूरी करते हैं तो आपको यहां पर ग्रेजुएशन के कोर्स की हिसाब से फीस देनी होती है। अगर आप ग्रेजुएशन में बैचलर ऑफ आर्ट से पढ़ाई कर रहे हैं तो आपको एक सेमेस्टर की ₹3000 फीस और दूसरे सेमेस्टर की ₹3000 फीस देनी होगी कुल मिलाकर यहां पर ₹7000 तक प्रति वर्ष फीस पड़ती है।

अगर आप प्रैक्टिकल सब्जेक्ट से ग्रेजुएशन की पढ़ाई कर रहे हैं तो आपको यहां पर प्रतिवर्ष ₹10000 फीस पड़ेगी सभी ओपन यूनिवर्सिटी में डिस्टेंस लर्निंग की फीस अलग-अलग रखी गई है।

डिस्टेंस लर्निंग की मान्यता है या नहीं

डिस्टेंस लर्निंग की मान्यता के बारे में बहुत सारे लोग जानना चाहते हैं क्योंकि कुछ लोगों का ऐसा कहना है कि अगर आप डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन की पढ़ाई करते हैं कि कोई भी मान्यता नहीं है उन यूनिवर्सिटी की मान्यता नहीं है जिन्हें NTA के द्वारा मान्यता नहीं दी गई है। सभी विश्वविद्यालय को NTA के द्वारा ही मान्यता दी जाती है अगर किसी विश्वविद्यालय को NTA ने अपनी सूची में शामिल नहीं किया गया है तो वह विश्वविद्यालय फर्जी माना जाता है।

डिस्टेंस लर्निंग की मान्यता रेगुलर कॉलेज के बराबर ही होती है अगर एक स्टूडेंट NTA के द्वारा मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से डिस्टेंस लर्निंग तहत पढ़ाई कर रहा है और दूसरा स्टूडेंट रेगुलर कॉलेज जैसे दिल्ली विश्वविद्यालय या फिर कुमाऊं यूनिवर्सिटी से कॉलेज कर रहा है तो दोनों स्टूडेंट को सम्मान मान्यता दी जाती है।

डिस्टेंस लर्निंग की मान्यता भारत के सभी राज्य में हैं। क्योंकि सरकार को भी पता है कि बहुत सारे स्टूडेंट क्षेत्र में रहते हैं और उनको ग्रेजुएशन की पढ़ाई करानी आवश्यक है इसलिए सरकार ने 1977 के बाद डिस्टेंस लर्निंग पर फोकस दिया है।

डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन करने के फायदे बताइए?

अगर आप डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन की पढ़ाई करते हैं तो आपको बहुत ही ज्यादा फायदा मिल सकता है।

  1. डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन की पढ़ाई करने का सबसे बड़ा फायदा यह है कि आपको रोजाना कॉलेज नहीं जाना होगा और ना ही असाइनमेंट रोजाना बनाने होंगे।
  1. डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन की पढ़ाई करने पर आपको दूसरा फायदा यह होगा कि आप अपने अन्य एग्जाम की तैयारी भी कर सकते हैं। जो लोग सरकारी नौकरी की तैयारी करना चाहते हैं तो वह डिस्टेंस लर्निंग के माध्यम से ग्रेजुएशन की पढ़ाई कर सकते हैं।
  1. जिन लोगों के घर से कॉलेज बहुत ही ज्यादा दूर है और उन्हें कॉलेज जाने में कम से कम 4 से 5 घंटे लग जाते तो उन सभी स्टूडेंट के लिए डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन करना बहुत ही ज्यादा फायदेमंद रहेगा क्योंकि उनका समय बचेगा।
  1. अगर आप को रेगुलर कॉलेज में एडमिशन नहीं मिल पा रहा है तो आप डिस्टेंस लर्निंग की मदद से भी ग्रेजुएशन की पढ़ाई कर सकते हैं।
  1. डिस्टेंस लर्निंग का एक फायदा यह भी है कि रेगुलर कॉलेज में ज्यादा फीस पड़ती है जबकि प्राइवेट कॉलेज में कम फीस पड़ती है।
  1. डिस्टेंस लर्निंग के माध्यम से आप किसी भी कोर्स में ग्रेजुएशन की पढ़ाई कर सकते हैं।
  1. डिस्टेंस लर्निंग से कोई भी वर्ष का व्यक्ति ग्रेजुएशन और पोस्ट ग्रेजुएशन की पढ़ाई कर सकता है।
  1. डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन की पढ़ाई करने के साथ-साथ आप प्राइवेट जॉब भी आसानी से कर सकते हैं।
  1. डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन करने पर आपको केवल एग्जाम देने और यहां पर असाइनमेंट भी ऑनलाइन सम्मिट होते हैं।

डिस्टेंस लर्निंग सेे ग्रेजुएशन करने के नुकसान

डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन करने के कुछ फायदे हैं लेकिन कुछ भी हमें देखने के लिए मिलते हैं जैसे

  1. डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन की पढ़ाई करने पर आपको केवल एग्जाम देने की कॉलेज जाना होता है जिससे स्टूडेंट का मानसिक विकास अच्छे से नहीं होता है और पढ़ाई भी नहीं।
  1. डिस्टेंस लर्निंग के नाम से बहुत सारी फर्जी कॉलेज खुल चुके हैं और इनका अनुमान लगाना बहुत ही मुश्किल होता है।
  1. डिस्टेंस लर्निंग के माध्यम से अगर आप ग्रेजुएशन की पढ़ाई कर रहे हैं और साथ में सरकारी नौकरी की तैयारी भी तो आपको ज्यादा फायदा नहीं मिलेगा।
  1. डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन की पढ़ाई आप अगर प्रैक्टिकल सब्जेक्ट के साथ करते हैं तो आपका प्रैक्टिकल का बेसिक भी क्लियर नहीं हो पाएगा क्योंकि यहां पर बहुत सारी चीजें छूट जाएंगे।
  1. डिस्टेंस लर्निंग के अंतर्गत आज के समय में सारी चीजें ऑनलाइन हो रही है और हर एक स्टूडेंट को ऑनलाइन जानकारी नहीं मिल पाती है जिसके कारण कई बार छात्र एग्जाम देने से वंचित हो जाता है और उसकी फीस भी बर्बाद हो जाती है।

FAQ

डिस्टेंस लर्निंग के माध्यम से कितने साल में ग्रेजुएशन की पढ़ाई पूरी की जाती है? 

डिस्टेंस लर्निंग से अगर आप ग्रेजुएशन करते हैं तो आप 3 साल की होती है।

डिस्टेंस लर्निंग ग्रेजुएशन और रेगुलर ग्रेजुएशन में क्या अंतर है?

डिस्टेंस लर्निंग के तहत अगर आप ग्रेजुएशन की पढ़ाई करते हैं तो आपको केवल एग्जाम देने कॉलेज जाना होता है अगर रेगुलर ग्रेजुएशन कर रहे हैं तो किसी विश्वविद्यालय से आपको रोजाना कॉलेज जाना होगा और 2 सेमेस्टर के और साथ में असाइनमेंट सबमिट करने होंगे। डिस्टेंस लर्निंग के अंतर्गत अगर आप ग्रेजुएशन करते हैं तो आपको रेगुलर कॉलेज की तुलना में कम फीस पड़ेगी।

निष्कर्ष

डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन के बारे में आपको अब तक जानकारी मिल गई होगी। 2022 में और 2030 में आप सितंबर महीने के अंतर्गत डिस्टेंस लर्निंग के तहत ग्रेजुएशन के लिए अप्लाई कर सकते हैं और इंदिरा गांधी मुक्त विश्वविद्यालय में अब दिसंबर के महीने में ग्रेजुएशन कोर्स के लिए अप्लाई कर सकते हैं।

Leave a Comment